रिश्तों को व्हाट्सएप- एसएमएस से न निभाएं

smsयह सही है कि आज की व्यस्त जिन्दगी में समय के अभाव मे एकदूसरे के साथ समय बिताना मुश्किल काम है. ऎसे में त्यौहार एक खास मौका लेकर आते हैं जब सगेसम्बन्धियों के जुड़ पाते हैं. इसलिए इस दीवाली आने से कुछ रोज पहले ही हम क्यों न उन सब करीबियों और रिश्तेदारों की की लिस्ट बनाएं जिन्हें पर्सनली फोन कर बधाई और निमंत्रण देना है.

इससे जल्दबाजी में कोई नाम भी नहीं छूटेगा और सब के साथ दीवाली की खुशियाँ हर्षोल्लास के साथ मनाई जा सकेंगी. याद रखिये यही फोन काल न केवल रिश्तों को जोडऩे में अहम भूमिका निभाते हैं बल्कि इन्हें सालों साल तक तरोताजा भी रखते हैं.

ऑनलाइन बधाई भी विकल्प है लेकिन सिर्फ इतना ही काफी नहीं है. लेकिन एक फोन कॉल करके अपनी जुबान से शुभकामनाओं के संदेश तो दे ही सकते हैं. ऐसा भी नहीं है कि किसी के पास इतन भी समय न हो कि मिलना तो दूर वे एक फोन कॉल कर अपनों को बधाई संदेश न दे सकें. दरअसल फोन के माध्यम से हम अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को फोन कर उन्हें शुभकामनाएं देने के बहाने एक दूसरे का हाल चाल जान लेते है.

एक दुसरे की समस्याओं के बारे में बात कर कुछ दुःख तकलीफें साझा कर लेते हैं. क्या यह काम एक संदेश से हो सकता है, बिलकुल नहीं. लेकिन आजकल उल्टा हो रहा है. एसएमएस के चक्कर में लोगों ने फोन भी करना बंद कर दिया है. क्योंकि एक एसएमएस भेजकर बधाई देकर काम बन जाता है. ऎसे मौकों पर फोन कर शुभकामनाएं देना मत भूलें क्योंकि एक मिनट की बात से कुछ घटेगा नहीं बल्कि प्यार बढेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.