ट्रेन हादसे की फोरेंसिक जांच होगी – सुरेश प्रभु

sureshpraabhuपटना-इंदौर एक्सप्रेस हादसे को लेकर लोकसभा में सोमवार को हंगामे के बीच रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने बयान दिया. उन्होंने रेल दुर्घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि हादसे की फॉरेंसिक जांच होगी. साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि दोषियों को कड़ी सजा दी जाएगी. आपको बता दें कि इस हादसे में अब तक 142 लोगों की मौत हो चुकी है.

Also Read:- अरबाज और मलाइका का हो रहा है तलाक

पटना-इंदौर एक्सप्रेस हादसे को लेकर सोमवार को संसद के दोनों सदनों की शुरुआत हंगामे से हुई. विपक्ष ने दोनों सदनों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी को लेकर खूब हंगामा किया. विपक्ष के सांसदों ने एक सुर में ये मांग रखी के रेल हादसे पर चर्चा तब होगी जब पीएम मोदी सदन में उपस्थित हों. हंगामे के चलते राज्यसभा की कार्यवाही को 11.30 बजे तक स्थगित कर दिया गया है.रेल हादसे पर कंद्रीय मंत्री सुरेश प्रभु लोकसभा और राज्यसभा में बयान देंगे. बताया जा रहा है कि सुरेश प्रभु 12 बजे संसद में बयान दे सकते हैं. रविवार को कानपुर से लगभग 60 किलोमीटर दूर पुखरायां में इंदौर से पटना जा रही दुर्घटनाग्रस्त हुई इंदौर-पटना एक्सप्रेस में अब तक मृतकों की संख्या 133 हो गई है. जबकि करीब 60 गंभीर रूप से घायल हैं और 150 लोगों को हल्की चोटें आई हैं.पटरी में दरार की आशंका के चलते ट्रेन के उतरने की आशंका जताई जा रही है.

Also Read:- सरकार का दखल मीडिया में नहीं होना चाहिए – PM Modi

हादसे के बाद कुछ कोच पूरी तरह मलबे में तब्दील हो गए हैं. घटनास्थल पर मौजूद सेना और एनडीआरएफ की टीमें राहत और बचाव कार्य में लगी हैं. फिलहाल प्रधानमंत्री राहत कोष, रेलवे, उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश सरकारों ने मृतकों और घायलों के लिए मुआवजे की घोषणा की है.

 रेल हादसे के लगभग 350 पीड़ितों को लेकर एक स्पेशल ट्रेन पटना पहुंच गई है. ये विशेष ट्रेन सोमवार तड़के पटना पहुंची.
झांसी में पटरी से उतरी मालगाड़ी
उत्तर प्रदेश के पुखरायां में हुए रेल हादसे को अभी एक दिन ही हुआ है कि झांसी से एक मालगांड़ी के पटरी से उतरने की खबर आ गई. बताया जा रहा है कि सोमवार तड़के एक मालगाड़ी के दो डिब्बे पटरी से उतर गए.

Also Read:- जब करोड़ की औकात हुई दो कौड़ी की…

सोमवार को चलनी शुरू होगी इस पटरी पर रेल
वहीं उत्तर-मध्य रेलवे के महाप्रबंधक अरुण श्रीवास्तव ने कहा कि कानपुर-झांसी रेलमार्ग पर यातायात सोमवार को शुरू हो जाएगा. हादसे के बाद से चार ट्रेनें रद्द कर दी गयी हैं और 14 ट्रेनों का रास्ता बदल दिया गया है.

दुर्घटना में जीवित बचे लोगों का एक सुर में कहा था, ‘हमने मौत को बेहद करीब से देखा.’ एनडीआरएफ के महानिदेशक आरके प्रचंड ने बताया कि विशेष बचाव दल की पांच टीमें दुर्घटनास्थल पर भेजी गई हैं. प्रत्येक टीम में 45 कर्मी हैं.

Also Read:-2024 ओलंपिक में 50 मेडल लाने का लक्ष्य है मोदी सरकार का

बचाव कार्य में हो रहा कटर का इस्तेमाल
मौके पर पहुंचे प्रचंड ने कहा, ‘बचाव टीमें कटर और हाईड्रोलिक उपकरणों का प्रयोग कर रही हैं ताकि ट्रेन के डिब्बों में फंसे हुए सभी यात्रियों को सुरक्षित बाहर निकाला जा सके.’ उन्होंने कहा, चूंकि डिब्बों के भीतर लोग फंसे हुए हैं, इसलिए पूरी सावधानी और सतर्कता बरती जा रही है.

चार जगहों से मुआवजे का ऐलान
रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने पीड़ितों को मुआवजे का ऐलान किया है. मृतकों के परिजनों को 3.5 लाख रुपये का मुआवजा देने का ऐलान किया है. हादसे में गंभीर रूप से घायल यात्रियों को 50 हजार जबकि मामूली रूप से जख्मी लोगों को 25 हजार रुपये दिए जाएंगे. दूसरी तरफ यूपी सरकार ने मृतकों के परिवारों को 5 लाख रुपये, गंभीर रूप से घायलों को 50-50 हजार जबकि मामूली रूप से घायलों को 25-25 हजार रुपये देने की घोषणा की है. पीएम मोदी ने भी पीड़ितों को मुआवजे का ऐलान किया है.

Also Read:- पटना-इंदौर एक्सप्रेस ट्रेन हादसा : 133 लोगों की मौत

मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख रुपये जबकि गंभीर रूप से घायलों को 50-50 रुपये दिए जाएंगे. य रकम रेलवे की तरफ से दिए जा रहे मुआवजे से अलग होगी. मध्य प्रदेश सरकार ने मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख रुपये जबकि गंभीर रूप से घायल यात्रियों को 50-50 हजार रुपये के मुआवजे का ऐलान किया है.

सुरेश प्रभु ने दिए जांच के आदेश
रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने हादसे की वजह जानने के लिए भी जांच शुरू की जाएगी. प्रभु ने कहा कि हादसे के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी. फिलहाल पीड़ितों की मदद के लिए हर संभव प्रयास किया जा रहा है. राजनाथ सिंह भी सुरेश प्रभु के साथ लगातार संपर्क में हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.