CWC की बैठक में एनडीए सरकार पर सोनिया-मनमोहन ने साधा निशाना

CWC Meetingकांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के आवास पर मंगलवार को कांग्रेस वर्किंग कमिटी (CWC) की हुई बैठक में मुख्य अजेंडा कश्मीर और राष्ट्रपति चुनाव रहा। राष्ट्रपति चुनाव को लेकर कांग्रेस ने समान विचार वाले दलों के साथ संपर्क कर एक सब कमिटी बनाने का ऐलान तो किया है लेकिन इनमें कौन-कौन लोग शामिल होंगे, इसे लेकर कोई जानकारी नहीं दी।

बैठक के दौरान सोनिया गांधी ने भी निशाना साधते हुए कहा कि मोदी सरकार के 3 साल पूरे होने पर जहां सद्भाव था वहां कलह और जहां सहिष्णुता थी वहां उकसावे की बातें हो रही हैं। एनडीए सरकार जिन सफलताओं का दावा कर रही है वे सारे प्रॉजेक्ट्स यूपीए की सरकार में शुरू किए गए थे।

पूर्व पीएम डॉक्टर मनमोहन सिंह ने कहा कि नोटबंदी की वजह से भारतीय अर्थव्यवस्था को नुकसान उठाना पड़ा है। इसके अलावा कश्मीर में फैली अशांति का मसला भी बैठक का केंद्र बिंदु रहा।

इस बैठक में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, उपाध्यक्ष राहुल गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, मोतीलाल वोरा, गुलाम नबी आजाद, पी चिदंबरम, अंबिका सोनी, जनार्दन द्विवेदी, अहमद पटेल, एके एंटनी, अशोक गहलोत और सीडब्ल्यूसी के दूसरे सदस्य मौजूद हैं। एक ओर CWC की बैठक में सोनिया गांधी ने मोदी सरकार पर हमलावर रुख दिखाया। साथ ही पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने भी नोटबंदी पर मोदी सरकार को घेरा।

मीडिया को जानकारी देते हुए गुलाम नबी आजाद ने एक न्यूज चैनल के प्रमोटर पर पड़े सीबीआई छापे का भी जिक्र करते हुए कहा कि हजारों-लाखों करोड़ों लेकर भागे लोगों पर कोई कार्रवाई नहीं हो रही। और केंद्र को पब्लिसिटी की सरकार बताते हुए कहा कि 3 सालों के दौरान एससी, एसटी, पिछले, अल्पसंख्यक, महिलाओं और किसानों सबपर अत्याचार बढ़ गया है। आजाद ने आरोप लगाया कि पूरे देश के किसान त्रस्त हैं। महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश के किसान आंदोलनरत हैं, पर सरकार उनकी बात सुनने की बजाय उनपर लाठियां बरसा रही है। रोजगार के वादे के नाम पर मोदी सरकार पर युवाओं को छलने का भी आरोप लगाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.