प्यार, नफरत और ताकत की कहानी ‘शब’ में रवीना टंडन

raveena tondonफिल्म ‘आई एम’ के लिए नेशनल अवॉर्ड अपने नाम कर चुके प्रसिद्धनिर्देशक ओनिर अपनी नई फिल्म ‘शब’ के साथ एक बार फिर दर्शकों केसामने आ रहे हैं। अपनी इसी रोमांटिक ड्रामा फिल्म का प्रमोशन करने केलिए प्रोड्यूसर संजय सूरी एवं फिल्म की लीड जोड़ी अर्पिता चटर्जी औरआशीष बिष्ट के साथ दिल्ली आए थे। इस दौरान सभी काफी उत्साहितनजर आए।

बता दें कि ओनिर हटकर विषयों पर फिल्म बनाने के लिएजाने जाते हैं। इस बार भी वह एक अलग विषय पर ‘शब’ लेकर आए हैं। फिल्म के बारे में पूछने पर उन्होंने बताया कि ‘शब’ की कहानी रियलइंसिडेंट्स से इंस्पायर्ड है, जो लोगों के साथ होते हैं।

एक लड़का एक्टर याराइटर बनना चाहता है और ग्लैमर वल्र्ड में एंट्री पाना चाहता है। यहसपना हर किसी का होता है, लेकिन चकाचैंध भरे शहर में कैसे उसकीजिंदगी बदल जाती है, यही फिल्म में दिखाने का प्रयास किया गया है।कहानी में एक्टर आशीष बिष्ट मोहन के किरदार में हैं, जो एक छोटे शहरसे बड़े शहर अपने सपनों को सच करने निकल पड़ता है, लेकिन उसे नहींपता होता कि यह शहर ही उसका सपना बदल देगा।

इस फिल्म को ‘शब’ नाम देने के बारे में पूछने पर उन्होंने बताया कि’शब’ का मतलब है रात और इस फिल्म की करीब 80 फीसदी शूटिंग रातमें की गई है। इसका कारण है कि हम सपने रात में देखते हैं और रात मेंही हम अपने सपनों को सच करने के बारे में भी ज्यादा सोचते हैं। अगरध्यान दिया जाए तो हम अंधेरे में जाते हैं, तो कुछ देर तो अंधेरा रहता है,लेकिन बाद में उस अंधेरे में भी थोड़ी रोशनी नजर आने लगती है।

इसलिए रात में फिल्म की शूटिंग की गई है, जिससे कहानी की सार्थकता दिखाई जा सके। वहीं फिल्म के निर्माता होने के अनुभव के बारे में संजय सूरी ने बताया कि इस फिल्म को लेकर सभी की जर्नी काफी शानदार रही है। उन्होंने कहा उनका योगदान काफी विचार-विमर्श से भरा हुआ है और एक प्रोसेस कीतरह है। इसलिए निर्माता के रूप में उनके योगदान को परिभाषित करनाकाफी मुश्किल है। फिल्म का टाइटल उन्होंने ही सुझाया, फिल्म के खत्महोने तक काफी सुझाव दिए, लेकिन आखिरी फैसला डायरेक्टर का हीहोता है।

फिल्म के मुख्य कलाकार अर्पिता और आशीष काफी उत्साहित नजरआए क्योंकि यह दोनों इसी फिल्म से बॉलीवुड में कदम रखने जा रहे हैं।अभी तक काफी ऐड में काम कर चुके मॉडल आशीष बिष्ट ने बताया कियह उनकी पहली फिल्म है और उनका अनुभव बेहतरीन रहा। उन्हें बहुतकुछ सीखने को मिला। वह अपने असली जिंदगी और पर्दे पर अपनेकिरदार की जिंदगी मैं काफी समानताएं मानते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *