राहुल बोले- TRP पॉलिटिक्‍स में माहिर हैं PM

modiकांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने नोटबंदी पर सवाल उठाते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर अब तक का सबसे तीखा वार किया है। राहुल ने कहा है कि प्रधानमंत्री अपनी ही छवि के गुलाम बन गए हैं। उनकी टीआरपी राजनीति का खामियाजा जनता को उठाना पड़ रहा है।

Also Read:- कांग्रेस के साथ गठबंधन से अखिलेश यादव को नहीं है कोई परहेज!

शुक्रवार को राहुल ने सोनिया गांधी की गैरमौजूदगी में पहली बार कांग्रेस संसदीय दल की बैठक को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री अक्सर सवाल उठाते हैं कि कांग्रेस ने 60 साल में देश को क्या दिया? इसके जवाब में वह यही कहेंगे कि कांग्रेस ने ऐसा कोई प्रधानमंत्री नहीं दिया, जिसने अपनी छवि की खातिर जनता को मुसीबत में डाला। अपने ही पैसों के लिए मोहताज कर दिया।

Also Read:- सरकार का दखल मीडिया में नहीं होना चाहिए – PM Modi

राहुल ने नोटबंदी से अर्थव्यवस्था पर पड़ने वाले प्रतिकूल असर का आकलन नहीं करने का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार और काले धन के खिलाफ सरकार के सही कदम का कांग्रेस पूरी तरह समर्थन करेगी। मगर नोटबंदी की आपाधापी में घोषणा करने से पहले पीएम ने यह नहीं देखा कि किसान, छोटे दुकानदार, मजदूर और गृहणियों को हर दिन नकदी की जरूरत होती है।

राहुल ने कहा कि नकदी के रूप में केवल छह फीसद कालाधन है। बाकी सोने, रियल एस्टेट और डॉलर के रूप में बाहर जमा हैं। इस हकीकत के बावजूद सरकार ने देश में प्रचलित 86 फीसद नकदी पर नोटबंदी लागू कर सवा अरब लोगों का भविष्य दांव पर लगा दिया है।

Also Read:- जब करोड़ की औकात हुई दो कौड़ी की…

उन्होंने दावा किया कि नोटबंदी के कारण रोजगार की क्षति, नए नोटों की प्रिंटिंग और इसके प्रबंधन पर अब तक देश को 1.28 लाख करोड़ रुपये के बराबर नुकसान हो चुका है। इससे जहां गरीबों की मुश्किल बढ़ी है, वहीं सरकार ने आयकर कानून में संशोधन कर अमीरों को 50 फीसद देकर काला धन सफेद करने की खुली छूट दे दी है।

पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने नोटबंदी के प्रतिकूल प्रभावों को लेकर सांसदों को जानकारी दी। उन्होंने संसद में इसको लेकर कांग्रेस की लड़ाई को जायज ठहराया।

पाकिस्तान नीति पर उठाए सवाल

सीमा पार से गोलीबारी में सैनिकों की बड़ी संख्या में शहादत पर राहुल ने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान 21 बड़े हमले कर चुका है। पाकिस्तान पर सरकार की ढुलमुल नीति की कीमत सैनिकों को शहादत देकर चुकानी पड़ रही है।

नरेंद्र मोदी जब गुजरात के मुख्यमंत्री थे, तो कांगे्रस की पाकिस्तान नीति का मजाक उड़ाते थे। मगर यह भी हकीकत है कि तब श्रीनगर में हालात सामान्य थे और वहां की सड़कें पर्यटकों से गुलजार थीं। उन्होंने कहा कि आज घाटी जल रही है। इसके लिए पीडीपी-भाजपा का अवसरवादी गठबंधन जिम्मेदार है, जिसने भारत विरोधी तत्वों को खड़ा होने का मौका दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.