सुप्रीम कोर्ट मामला पर पीएम के मुख्‍य सचिव ने मुख्‍य न्‍यायाधीश से मुलाकात की

CJI Dipak Mishraआजाद भारत के इतिहास में पहली बार सुप्रीम कोर्ट के चार वरिष्‍ठ न्‍यायाधीशों जज जस्ती चेलमेश्वर, न्यायमूर्ति रंजन गोगोई, न्यायमूर्ति मदन बी लोकुर और न्यायमूर्ति कुरियन जोसेफ के एतिहासिक और अभूतपूर्व प्रेस कॉन्‍फ्रेंस बुलाई और देश के मुख्‍य जज की कार्यशैली पर सवाल खड़े किए। उन्‍होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट प्रशासन ठीक ढंग से काम नहीं कर रहा है। जब कोई विकल्‍प नहीं बचा तो हम आपके सामने आए हैं। चारों जज ने कहा कि इस मामले में चीफ जस्टिस से बात की। जजों ने कहा कि लोकतंत्र खतरे में है।

Four-Judge

इस संवाददाता सम्‍मेलन के बाद उठे विवाद के बीच अटॉर्नी जनरल के के वेणुगोपाल ने आज इस विवाद के समाप्‍त हो जाने की उम्‍मीद जताइ्र है। वेणुगोपाल ने कहा कि मुख्‍य न्‍यायाधीश दीपक मिश्रा शीर्ष अदालत के अन्‍य सभी न्‍यायाधीशों के साथ मिलकर मतभेदों को दूर करेंगे। साथ ही यह भी कहा कि इस अप्रत्‍याशित घटना के बाद उनकी मुलाकात न्‍यायमूर्ति मिश्रा से हुई थी और विवाद के आज समाप्‍त होने की पूरी उम्‍मीद है। हालांकि अपने साथ हुए विचार विमर्श की विस्तृत जानकारी देने से इंकार कर दिया। वेणुगोपाल ने चारों न्‍यायाधीशों द्वारा किए गए संवाददाता सम्‍मेलन पर सवाल खड़ा किया। साथ ही कहा कि जो कुछ भी हुआ उसे टाला जा सकता था। इस पूरे मामले पर खुद प्रधानमंत्री ने संज्ञान लिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *