PM मोदी को है जान का खतरा : रामदेव

ramdevयोग गुरु रामदेव ने आज कहा कि ऐतिहासिक कदम की पृष्ठभूमि में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ड्रग माफिया, आतंकवादियों और अन्य आर्थिक अपराधियों से खतरा है।

मोदी ने मुद्रा कारोबार को जोरदार झटका दिया
रामेदव ने लोगों से सरकार के साथ सहयोग करने और कुछ दिनों तक दर्द सहने का अनुरोध किया और कहा कि पूरी कवायद से आखिरकार देश की अर्थव्यवस्था बेहतर होगी। शहर के हवाई अड्डे पर अपने आगमन के बाद रामदेव ने संवाददाताओं से कहा, 500 और 1000 रुपए के नोट को बंद कर मोदी ने भ्रष्टाचार, कालाधन, आतंकवाद और जाली मुद्रा कारोबार को जोरदार झटका दिया है। 500 रुपए और 1000 रुपए का फर्जी नोट पाकिस्तान में प्रिंट होता रहा है और भारत में इसे चलाया गया। इन नोटों के हटने से आतंकवादी तबाह हो गए हैं। उन्होंने कहा, इस कदम से मोदी अब ड्रग माफिया, आतंकवादियों और आर्थिक अपराधियों से जान का खतरा झेल रहे हैं।ज् वह यहां धार्मिक नेता शष्ठ पीठाधीश्वर गोस्वामी 108 श्री द्वारकेशलालजी महाराज के 50 वें जन्म समारोह में उपस्थित होने आए हैं । एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि नोटबंदी से उनकी कंपनी पतंजलि का कारोबार भी प्रभावित हुआ। उन्होंने कहा, च्लेकिन तंत्र को साफ करने के इस प्रयास में लोगों को केंद्र के साथ सहयोग करना चाहिए।

कुछ लोग सरकार को दोषी ठहरा रहे हैं 
रामदेव ने कहा, कुछ लोग सरकार को दोषी ठहरा रहे हैं क्योंकि अचानक कवायद से वे मुश्किलें झेल रहे हैं। लेकिन आखिरकार इस कदम से देश की आर्थिक स्थिति बेहतर होगी। इससे अर्थव्यवस्था की विकास दर बढेगी, महंगाई नियंत्रित होगी और जरूरी सामान की कीमतें कम होगी, जिससे अंतत: लोगों की जिंदगी बेहतर होगी। उन्होंने पूछा, दोष मढऩे की बजाए, मैं लोगों से तंत्र को साफ करने के सरकार के इस कदम के साथ सहयोग करने की अपील करता हूं। जब युद्ध होता है सैनिकों को मुश्किलें झेलनी पड़ती है और हफ्तों भूखे रहना पड़ता है। क्या हम, राष्ट्र के कल्याण के लिए कुछ दिनों तक इन कठिनाइयों को नहीं झेल सकते। नोटबंदी को वापस लेने की पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की मांग संबंधी एक सवाल पर योग गुरु ने कहा, ममता के विरोध को देश में लोगों का साथ नहीं मिलेगा। लोग नोटबंदी कवायद के खिलाफ उनके और अन्य राजनीतिक दलों के खिलाफ बगावत करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.