PAK से सरताज और भारत से PM मोदी हार्ट ऑफ एशिया में शिरकत करेंगे

amritsarदो दिवसीय ‘हार्ट ऑफ एशिया’ सम्मेलन शुरू हो गया है। सम्मेलन के लिए अधिकारियों की बैठक शुरू हो गई है। बैठक में एशिया में शांति व आपसी सहयोग और अफगानिस्तान की हालत को प्रमुख मुद्दा रखा गया है। इसके साथ ही भारत आतंकवाद और नगरोटा हमले पर पाकिस्तान को घेरेगा। मीडिया सूत्रों के मुताबिक कहा जा रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज अमृतसर के मंच से आतंकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान को आईना दिखाएंगे।

Also Read:- कांग्रेस के साथ गठबंधन से अखिलेश यादव को नहीं है कोई परहेज!

अफगानिस्तान में तालिबान फिर से सिर उठा रहा है और ऐसे समय में क्षेत्र में आतंकवाद के खतरे से प्रभावी ढंग से निपटने, देश के जटिल सुरक्षा परिदृश्य को बेहतर बनाने और युद्ध से जर्जर देश को फिर से खड़े होने में मदद करने के लिए प्रमुख क्षेत्रीय और वैश्विक ताकतों का एक सम्मेलन इस पवित्र शहर में आज प्रारंभ हुआ।

Also Read:- जब करोड़ की औकात हुई दो कौड़ी की…

हार्ट ऑफ एशिया – इस्तांबुल प्रक्रिया के वाषिर्क सम्मेलन में करीब 40 देशों समेत यूरोपीय संघ जैसे प्रमुख समूह संकट से घिरे अफगानिस्तान में शांति प्रक्रिया बहाली समेत देश से जुड़ी कई समस्याओं पर चर्चा कर रहे हैं।

आज भारत, चीन, रूस, ईरान और पाकिस्तान समेत सभी 14 देशों के वरिष्ठ अधिकारी और 17 सहयोगी देशों के प्रतिनिधि अफगानिस्तान के जटिल सुरक्षा परिदृश्य और आतंकवाद, कट्टरता और उग्रवाद के खतरे से निपटने के मुद्दे समेत कई व्यापक विषयों पर विचार-विमर्श कर रहे हैं।

वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक में व्यापार को बढ़ावा देने के लिए दक्षिण और मध्य एशियाई देशों के साथ अफगानिस्तान का संपर्क बेहतर करने पर चर्चा हो रही है। भारत के विदेश सचिव एस. जयशंकर और अफगानिस्तान के उप विदेश मंत्री हिकमत खलील करजई बैठक की संयुक्त अध्यक्षता कर रहे हैं।

बैठक में कल के मंत्रिस्तरीय सम्मेलन के मसौदों को अंतिम रूप दिया जा रहा है और साथ ही इसके घोषणापत्र पर भी चर्चा की जा रही है, जिसका एक बड़ा हिस्सा आतंकवाद से संबंधित होगा।पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के विदेश मामलों के सलाहकार सरताज अजीज रविवार को मंत्रिस्तरीय सम्मेलन में इस्लामाबाद का प्रतिनिधित्व करेंगे, जिसका उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी संयुक्त रूप से करेंगे।

इस वार्षिक सम्मेलन का आयोजन नगरोटा सैन्य शिविर पर आतंकी हमले और भारत और पाकिस्तान के बीच बढ़े हुए तनाव की पृष्ठभूमि में हो रहा है और इसको लेकर कुछ भी स्पष्ट नहीं है कि सम्मेलन के इतर भारत-पाक के बीच कोई द्विपक्षीय बैठक होगी।

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के विदेश नीति सलाहकार सरताज अजीज मंत्रिस्तरीय सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए रविवार को यहां पहुंचेंगे। अजीज उसी दिन लौट जाएंगे।

पंजाब की समृद्ध संस्कृति एवं विरासत को दिखाने के लिए राज्य सरकार गणमान्य अतिथियों के लिए ‘साडा पिंड’ (हमारा गांव) नाम के एक विरासत गांव में रात्रिभोज की मेजबानी कर रही है। यह गांव अमृतसर के बाहरी क्षेत्र में स्थित है।मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल मोदी और गनी के लिए एक रात्रिभोज का भी आयोजन करेंगे।गौरतलब है कि यह सम्मेलन ऐसे वक्त हो रहा है जब भारत -पाकिस्तान के बीच रिश्ते तनावपूर्ण है।

इस्लामाबाद में हुए पिछले हार्ट ऑफ एशिया सम्मेलन के अवसर पर दोनों देशों के बीच वार्ता शुरू करने पर सहमति हुई थी, लेकिन इस वर्ष जनवरी में पठानकोट हमले के कारण यह संभव नहीं हो सका, कश्मीर के घटनाक्रमों और उरी में सैनिक शिविर पर हमले के बाद दोनों देशों के संबंधों में और अधिक तनाव आ गया।

अफगानिस्तान और इसके पड़ोसी देशों के बीच सुरक्षा, राजनीतिक और आर्थिक सहयोग बढ़ाने के लक्ष्य से यह मंच तैयार किया गया है। इस बैठक में अफगानिस्तान एवं उसके पड़ोसियों के बीच क्षेत्रीय सहयोग पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा ताकि कनेक्टिविटी बढ़ाई जा सके और सुरक्षा खतरों से निपटा जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.