नोटबंदी के चलते पुरानी दिल्ली के गोलचा सिनेमा में लगा ताला

golchaनोटबंदी का असर देश के हर व्यवसाय और इंसान पर पड़ रहा है. बात फिल्मी दुनिया की करें तो यहां पर सिर्फ टिकट खिड़की ही इसी मार नहीं झेल रही बल्कि अब तो सिनेमा घरों में भी ताले पड़ने लगे हैं. पुरानी दिल्ली में अब तक पांच सिंगल स्क्रीन थिएटरर्स पर ताला लग चुका है.

Read also : शकील बदायूंनी : म्यूजिक वर्ल्ड में सौ साल पूरे होने पर सजी याद्भारी शाम

पचास के दशक में दिल्ली में अपनी अलग पहचान और नाम के साथ शुरू हुआ गोलचा सिनेमा भी नोटबंदी की मार नहीं सह पाया. गोलचा के अलावा ईस्ट दिल्ली का सुप्रीम सिनेप्लैक्स भी बंद हो गया. नोटबंदी की मार और एंटरटेनमेंट टैक्स में हुआ इजाफा इन स्क्रीनस के बंद होने की बढ़ी वजह बना है.

8 नवंबर से हुई नोटबंदी के बाद सिनेमाघरों में आने वाले लोगों की संख्या में लगभग 60 फीसदी की गिरावट आई है. दर्शकों की घटती संख्या और बढ़े एंटरटेनमेंट टैक्स से परेशान सिंगल स्क्रीन थियेटर के मालिकों ने दन पर ताला लगना ही बेहतर समझा.

बीते तीन हफ्तों में वेस्ट दिल्ली का सम्राट सिनेमा, आजादपुर का आकाश सिनेमा और नांगलोई का लोकेश सिनेमा भी भारी घाटे के बाद बंद हो चुके हैं. अगर हालात ऐसे ही रहे तो लगता है कि और भी कई पुराने सिनेमा घरों पर भी जल्द ताला लग सकता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.