सिर्फ अरुंधती ही नहीं, मेरे पास भी है अभिव्यक्ति की आजादी –परेश रावल

Paresh rawalप्रसिद्ध लेखिका अरुंधती राय के खिलाफ किए गए अपने ट्वीट को लेकर पिछले दिनों चर्चा में आए बॉलिवुड ऐक्टर और सांसद परेश रावल एक बार फिर राय के खिलाफ बोलते नज़र आ रहे हैं। परेश रावल ने कहा है कि उन्हें लेखिका अरुंधती रॉय के खिलाफ किए गए अपने ट्वीट को लेकर किसी तरह का पछतावा नहीं है, क्योंकि लेखिका उस भारतीय सेना के बारे में गलत बातें कह रही हैं जो उन पर कभी पलटवार नहीं करेगी।

परेश रावल ने पिछले दिनों एक ट्वीट किया, जो कश्मीर में आर्मी जीप से एक युवक को बांधकर घुमाने वाले मामले से जुड़ा था। परेश ने कश्मीर में उस घटना के संदर्भ में यह बात कही थी, जहां सुरक्षाबलों ने पथराव करने वालों के खिलाफ कवच के रुप में एक प्रदर्शनकारी का इस्तेमाल किया था। उन्होंने अपने इस ट्वीट में लिखा था कि पत्थरबाज को जीप से बांधने से बेहतर है कि अरुंधती राय को बांधो। इसके बाद उनके इस ट्वीट को हिंसात्मक बताते हुए लोगों ने उनकी काफी आलोचना की थी।

67 वर्षीय ऐक्टर ने यह ट्वीट तब किया था जब पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक राय ने कश्मीर में भारतीय सेना की कार्रवाई की आलोचना की थी। बाद में पाकिस्तानी मीडिया की यह खबर फर्जी साबित हुई थी। बहरहाल, रावल ने कहा कि अगर राय पर खबर फर्जी थी तो भी उन्हें कोई खेद नहीं है। उन्होंने कहा कि अगर उन्हें सेना की जीप से बांधा जाता तो पथराव करने वाला कोई भी व्यक्ति उन पर हमला नहीं करता क्योंकि वह उनकी विचारधारा का समर्थन करती हैं।

परेश रावल ने पीटीआई से कहा, ‘तुम उनके बारे में (आर्मी) बात करती हो जो कि तुम्हारे बयान पर उल्टा जवाब नहीं देते। अगर हिम्मत है, तो ममता बनर्जी के बारे में कुछ बोलकर दिखाओ। यदि वह सही हैं, तो मैं भी सही हूं। यदि उन्हें अपने बयान पर पछतावा है तो मुझे भी है। माना कि यह खबर गलत है, लेकिन उन कॉमेंट का क्या जो उन्होंने साल 2002 में हुए गोधरा कांड पर दिया? यदि आपके पास आभिव्यक्ति की स्वतंत्रता है तो मेरे पास भी है।’

परेश ने अपने बयान में कहा है, ‘मुझे उम्मीद थी कि उदारवादी विचारधारा के लोग ऐसी ही प्रतिक्रिया करेंगे। मैं बस यह जानना चाहता हूं कि जब अरुंधती राय ने सेना के खिलाफ बयानबाजी की थी, तब किसी ने कुछ क्यों नहीं कहा। कोई खुलकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और अन्य पॉलिटिशन की आलोचना कर सकता है, लेकिन कोई आर्मी को क्यों टारगेट करे?’

परेश रावल ने अपना विवादास्पद ट्वीट डिलीट कर दिया था, लेकिन उन्होंने कहा था कि वह अपनी बात और अपने ट्वीट पर अब भी कायम हैं। उन्होंने कहा था कि ट्वीट को सिर्फ अपना ट्विटर अकाउंट सस्पेंड होने की डर से हटाना पड़ा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.