नौ घंटे चली सफाई फिर हुई काऊ मिल्क पार्टी, बना विश्व रिकॉर्ड

safaiप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू किए गए ‘स्वच्छ भारत अभियान’को कामयाब बनाने के लिए जहां पूरा देश खड़ा है, वहीं डेरा सच्चा सौदा प्रमुख डॉ. गुरमीत राम रहीम उर्फ डॉ. एमएसजी भी इस मामले में पीछे नहीं हैं। यही वजह है कि प्रधानमंत्री के इस अभियान को और धार देते हुए डाॅ. राम रहीम ने डेरा सच्चा सौदा के करीब छह लाख अनुयायियों के साथ दिल्ली में स्वच्छता अभियान चलाया। डाॅ. राम रहीम एवं डेरा सच्चा सौदा के इस अभियान की शुरुआत रविवार 7 अप्रैल की सुबह दिल्ली के इंडिया गेट से हुई, जो एकाध नहीं, बल्कि कुल नौ घंटे चला। डाॅ. राम रहीम का यह मेगा स्वच्छता अभियान इसी के साथ एक विश्व रिकाॅर्ड भी बना गया। इतना ही नहीं, इस अवसर पर ‘काऊ मिल्क पार्टी’ भी रखी गई, जिसमें आगंतुक मेहमानों, डेरा सच्चा सौदा के अनुयायियों के अलावा स्वच्छता अभियान में हिस्सा लेने वाले करीब एक लाख आमलोगों को भी गायक का शुद्ध दूध पिलाया गया।

डेरा सच्चा सौदा प्रमुख डॉ. गुरमीत राम रहीम उर्फ डॉ. एमएसजी के इस स्वच्छता अभियान में केंद्रीय मंत्री विजय गोयल, राज्यवर्धन सिंह राठौड़, जनरल वी.के. सिंह, बाॅलीवुड एक्टर-सिंगर-सह दिल्ली भाजपा के सांसद अध्यक्ष मनोज तिवारी, भाजपा सांसद अनुराग ठाकुर ने भी हिस्सेदारी दिखाई। इस मौके पर डेरा सच्चा सौदा प्रमुख डॉ. गुरमीत राम रहीम उर्फ डॉ. एमएसजीने दिल्ली वालों का आह्वान किया कि वह स्वच्छता के मामले में दिल्ली को देश का टाॅप शहर बनाने में अपनी महती भूमिका निभाएं। इसी के साथ उन्होंने यह भी कहा कि आमतौर पर भारतीय समाज में काॅकटेल पार्टी करने का प्रचलन है, जिसे उन्होंने ‘काऊ मिल्क पार्टी’ के जरिये तोड़ने का प्रयास किया है, क्योंकि गाय का दूध मां के दूध जितना ही शुद्ध होता है। उन्होंने इस अवसर पर गाय को मारने एवं उसके मांस के भक्षण करने की प्रवृति की निंदा भी की।

खास बात यह है कि बॉलीवुड में एक के बाद एक अपनी चार ब्लॉबस्टर फिल्मों से धमाल मचाने के बाद डेरा सच्चा सौदा प्रमुख डॉ. गुरमीत राम रहीम उर्फ डॉ. एमएसजी एक बार फिर अपनी आने वाली फिल्म ‘जट्टू इंजीनियर’ के साथ बॉक्स ऑफिस पर धमाल मचाने के लिए तैयार हैं। ऐसा लगता है कि इस बार भी डॉ. राम रहीम कोई कसर नहीं छोड़ना चाहते हैं, क्योंकि उनकी पिछली फिल्में जहां एक्शन से लबालब थीं, वहीं इस बार उनकी ‘जट्टू इंजीनियर’ एक कॉमेडी फिल्म होगी। दरअसल, ‘जट्टू इंजीनियर’ एक स्थानीय रूप से इस्तेमाल किया जाने वाला शब्द है, जहां हमारे स्थानीय लड़के, जो खुद से कला को सीखकर लगभग सब कुछ ठीक कर सकते हैं।

19 मई को रिलीज होने जा रही अपनी इस फिल्म के बारे में डॉ. एमएसजी इंसां ने बताया कि ‘जट्टू इंजीनियर’ एक कॉमेडी फिल्म है, जिसकी कहानी एक पिछड़े गांव के आसपास घूमती है। इस गांव में विद्यालय तो हैं, मगर शिक्षकों के बिना। इस गांव में रहने वाले लोग बहुत आलसी और दवाओं पर आश्रित हैं। संत डॉ. एमएसजी इंसान इसी गांव में सुधार करने वाले एक शिक्षक की प्रमुख भूमिका में दिखाई देंगे। इस फिल्म में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू किए गए ‘स्वच्छ भारत अभियान’ की झलक भी दिखाई देगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.