मोदी ने पार्टी के सांसदों और विधायकों से अपने बैंक खातों के लेनदेन का ब्यौरा जमा करने को कहा

PM Narendra Modiकालेधन पर मुहिम को आगे बढ़ाते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज अपनी ही पार्टी के सांसदों-विधायकों के लिए नया फरमान जारी कर दिया. पीएम ने अपने नए फरमान में सभी बीजेपी सांसदों-विधायकों से अपने खातों की जानकारी देने का निर्देश दिया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पार्टी के सभी सांसदों और विधायकों से अपने बैंक अकाउंट के विवरण पार्टी अध्यक्ष अमित शाह के समझ जमा करने को कहा है. संसद भवन में हुई बैठक में प्रधानमंत्री ने पार्टी के सभी विधायकों से आठ नवंबर से 31 दिसंबर के बीच अपने अपने बैंक खातों के लेनदेन का ब्यौरा भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को जमा करने को कहा. माना जा रहा है कि प्रधानमंत्री ने नोटबंदी के अपने फैसले के मद्देनजर अपने विधायकों-सांसदों को ये निर्देश दिए हैं कि एक जनवरी को सभी विधायकों और सांसदों को ये विवरण जमा करने हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारतीय जनता पार्टी की संसदीय दल की बैठक में स्पष्ट किया इनकम टैक्स सेशोधन बिल का उद्देश्य काले धन को सफेद करना नहीं बल्कि गरीबों से लूटे गए धन को उनके हित में लगाना है. लोकसभा में पेश किए गए आयकर संशोधन विधेयक के बारे में यह आरोप लगाये जा रहे हैं कि यह कालेधन को सफेद करने में मदद करेगा.

मोदी ने कहा कि संशोधित कानून लोक कल्याण मार्ग से गरीबों के कल्याण के कार्यक्रम के वास्ते हैं. संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार ने कहा कि यह विधेयक कालेधन के खिलाफ सरकार की जंग का हिस्सा है. गरीब कल्याण योजना का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार इस योजना के तहत गरीबों को बुनियादी सुविधाओं की आपूर्ति करने, स्वास्थ्य सुविधाएं, शिक्षा, पेयजल आदि मुहैया कराने के लिए धन का उपयोग करेगी. मोदी ने कहा कि सरकार भारत को नकदविहीन समाज बनाने के लिए प्रयत्नशील है. उन्होंने डिजिटल, मोबाइल अर्थव्यवस्था बनाने के उनके प्रयासों को सभी से समर्थन देने का आग्रह किया.

संसदीय दल की बैठक में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने पार्टी सांसदों से कहा कि वे अपने-अपने क्षेत्र के पंचायतों, नगर पालिकाओं और अन्य स्थानीय निकायों के कारोबारियों को नकदविहीन लेनेदेन अपनाने को प्रेरित करें.

सरकार और बीजेपी पर विपक्षी दल आरोप लगा रहे हैं कि नोटबंदी से पहले इसकी जानकारी बीजेपी को दे दी गई थी. कुछ दिन पहले ये आरोप भी लगा कि बीजेपी ने बिहार में नोटबंदी से ऐन पहले बड़ी रकम देकर जमीनें खरीदीं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.