मोदी ने अफ्रीकन डेवलेपमेंट बैंक की सालाना बैठक का किया उद्घाटन

African-development-Bankगुजरात के दो दिवसीय दौरे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को अफ्रीकन डेवलेपमेंट बैंक की 42वीं सालाना बैठक का उद्घाटन किया. गांधीनगर के महात्मा मंदिर सेंटर में आयोजित बैठक में पीएम ने बोला कि केंद्र में बीजेपी की सरकार आने के बाद अफ्रीकन देशों से भारत का व्यापार बढ़ा है.
साथ ही पीएम मोदी ने बोला कि अफ्रीकी देशों के साथ हमारे संबंध मजबूत हुए है. उन्होंने कहा कि साल 2014 में पद संभालने के बाद अफ्रीका को शीर्ष प्राथमिकता दी गई है. पिछले 15 सालों में अफ्रीका और भारत के बीच व्यापार कई गुना बढ़ा है.
पीएम ने बताया कि पिछले 15 सालों में भारत और अफ्रीका के बीच व्यापार में भारी बढ़ोतरी हुई है. जबकि पिछले 5 सालों में व्यापार दोगुना हो गया है.
पीएम ने कहा कि अफ्रीका के साथ शिक्षा और तकनीक के क्षेत्र में सहयोग पर भारत को गर्व है. वहीं पीएम मोदी ने ये भी कहा कि अगले साल से भारत का कोई भी गांव बिजली के बिना नहीं रहेगा.
इससे पहले सोमवार को दो दिवसीय दौरे के तहत गुजरात के कांडला पहुंचे प्रधानमंत्री ने पोर्ट के ओवरब्रिज के साथ 900 करोड़ के विकास कार्य का लोकार्पण किया. साथ ही प्रधानमंत्री ने केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी को कांडला पोर्ट का नाम बदलकर पंडित दीनदयाल पोर्ट करने का भी सुझाव दिया.
अपने भाषण की शुरुआत स्थानीय भाषा (कच्छी) में करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कच्छ के लोग बिना पानी जिंदगी गुजारते रहे. पानी का महत्व क्या होता है. ये कच्छ के लोग अच्छी तरह जानते हैं. विराट समंदर, मरुभूमि, पहाड़ और गौरवपूर्ण इतिहास, पांच हजार साल पुरानी संस्कृति के सबूत.. कच्छ के पास क्या नहीं है. उन्होंने कहा कि कच्छ के पास दुनिया को देने के लिए बहुत कुछ है.
मोदी ने कहा कि वैश्विक प्रतिस्पर्धा का अगर ला भ उठाना है, भारत के पास बेहतरीन बंदरगाहों का होना बहुत जरुरी है. इतने कम समय में कांडला पोर्ट का जिस तरह विकास हुआ है, इसने एशिया के प्रमुख बंदरगाहों में अपनी जगह बना ली है. पोर्ट सेक्टर में काम करने वाले समझते हैं कि कांडला की उपलब्धि क्या है.
उन्होंने कहा कि कांडला पोर्ट के पास भारत की अर्थव्यवस्था में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने की पूरी क्षमता है. बता दें कि पिछले 10 महीने में यह 11वां मौका होगा, जब पीएम मोदी अपने गृह राज्य गुजरात पहुंचे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.