लुटियंस में 435 करोड़ का बंगला खरीदा DLF के चेयरमैन की लड़की ने

dlfcदेश का सबसे मंहगा रिहाइशी इलाका माना जाने वाला दिल्ली के लुटियंस जोन में प्रॉपर्टी की अब तक की सबसे बड़ी प्रॉपर्टी डील हुई है। डीएलएफ के चेयरमैन केपी सिंह की बेटी रेनुका तलवार ने दिल्ली के पृथ्वीराज रोड इलाके में 435 करोड़ रुपए का बंगला खरीदा है।

इनसे खरीदा बंगला
जानकारी के मुताबिक, यह बंगला रियल स्टेट डेवलपर TDI Infracorp के मैनेजिंग डायरेक्टर कमल तनेजा ने बेचा है। 4925 वर्ग मीटर के प्लॉट में स्थित यह बंगला 1189 वर्ग मीटर में फैला है। बंगले को 8.8 लाख रुपए प्रति वर्ग मीटर के हिसाब से बेचा गया है। वर्तमान सर्किल रेट के हिसाब से बंगले की कीमत 383 करोड़ रुपए है। पृथ्वीराज रोड इलाके में आखिरी सबसे बड़ी प्रॉपर्टी डील 173 करोड़ रुपए की हुई थी। सितंबर 2015 में शाही एक्सपोर्ट के मालिक हरीश अहूजा ने 2650 वर्ग मीटर के प्लॉट में 836 वर्ग मीटर में बना बंगला था, जिसे 6.53 लाख रुपए प्रति वर्ग मीटर के हिसाब से खरीदा गया था।

केपी सिंह के इस इलाके में मौजूद हैं 2 बंगले
रेनुका तलवार के पति जीएस तलवार डीएलएफ में नॉन-एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर हैं। उनके अरबपति पिता केपी सिंह के पास लुटियंस दिल्ली में डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम रोड पर पहले से दो बंगले हैं। रेनुका को बंगला बेचने वाले कमल तनेजा ने इस बारे में कोई भी कमेंट करने से इंकार कर दिया।

2015 के बाद नहीं हुई कोई बड़ी डील
बता दें कि साल 2016 में सेंट्रल दिल्ली के इस पोश इलाके में कोई बड़ी डील देखने को नहीं मिली थी। हालांकि पिछले साल इस इलाके में कई हाई वैल्यू प्रॉपर्टीज की सेलिंग हुई थी। इसमें डाबर ग्रुप के चेयरमैन एमेरिटस वी सी बर्मन ने दिसंबर में गोल्फ लिंक्स एरिया में 160 करोड़ रुपए में बंगला खरीदा था। वहीं भाजपा के सांसद और एस्सेल ग्रुप के चेयरमैन सुभाष चंद्रा ने भगवान दास रोड पर पिछले साल 304 करोड़ रुपए में 2.8 एकड़ की प्रॉपर्टी खरीदी थी। इंडिया बुल्स के को-फाउंउर राजीव रत्तन ने 2015 में अमृता शेरगिल मार्ग पर 2,920 वर्ग यार्ड का बंगला 220 करोड़ रुपए में खरीदा था।

इन उद्योगपतियों के बंगले इन जोन में हैं
लुटियंस बंगला जोन में एल एन मित्तल, नवीन जिंदल, के पी सिंह, सुनील मित्तल, एस्सार ग्रुप के शशि और रवि रुइया, मलविंदर और शिविंदर सिंह और अनलजीत सिंह जैसे उद्योगपतियों के बंगले बने हुए हैं। लुटियन बंगला जोन का फिलहाल कुल क्षेत्रफल करीब 3,000 एकड़ का है और यह 28.73 वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ है। यहां लगभग 1000 बंगले हैं, जिनमें से केवल 65-70 प्रतिशत ही निजी उपयोग वाले हैं। बाकी बंगले मंत्रियों और दूसरे सरकारी अधिकारियों के इस्तेमाल के लिए रिजर्व किए गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.