कौन बनेगा राष्ट्रपति – बहस चालू है

presidentदेश का अगला राष्ट्रपति चुनने को लेकर राजनीतिक सुगबुगगाहट तो काफी पहले से शुरू हो गई थी पर बुधवार को चुनाव तारीखें घोषित होने के बाद अब इसमें तेजी आ जाएगी। विपक्ष इस मसले पर एकाधिक बैठकें कर चुका है। हालांकि ये बैठकें अभी शुरुआती चरण में ही हैं और फिलहाल इनसे कुछ निकलने की उम्मीद नहीं की जा सकती।

सत्तारूढ़ पक्ष ने अभी कोई बैठक नहीं की है, लेकिन विचार-विमर्श की प्रक्रिया वहां भी काफी पहले से चल रही है। बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने इस मसले पर एनडीए के सहयोगियों समेत विपक्ष तक से बातचीत की प्रतिबद्धता दिखाई है। ममता बनर्जी ने ऐसा नाम तय करने की जरूरत बताई है जिस पर सारे राजनीतिक दल एक हो सकें। मगर सत्ता पक्ष और विपक्ष के दोनों खेमों की गतिविधियां देखते हुए ऐसा लगता नहीं है कि आम राय बन पाएगी। वैसे लोकतंत्र में इसकी अपेक्षा भी नहीं की जानी चाहिए।

राष्ट्रपति एक राजनीतिक पद है। इसलिए देश में जो भी राजनीतिक धाराएं हैं वे अपनी-अपनी पसंद, प्रतिबद्धता और निष्ठा के मुताबिक प्रत्याशी चुनें, उनके पक्ष में प्रचार करें और आखिरकार जो भी जीते वह सर्वोच्च संवैधानिक मूल्यों के अनुसार अपने कर्तव्यों का अनुपालन करे। यह एक स्वस्थ लोकतंत्र की स्वाभाविक प्रक्रिया है। कोई कारण नहीं कि सर्वसम्मति के नाम पर इस प्रक्रिया को बाधित किया जाए। फिलहाल सत्ता पक्ष को भी ऐसी कोई जरूरत महसूस नहीं हो रही क्योंकि मौजूदा राजनीतिक समीकरण उसके पक्ष में जाते दिख रहे हैं। टीआरएस (तेलंगाना राष्ट्र समिति), तेलुगू देशम और AIADMK जैसे दलों के साथ होते हुए उसे किसी तरह की चिंता करने की आवश्यकता नहीं जान पड़ती।

विपक्ष के लिए यह अपनी एकजुटता साबित करने का एक मौका है। शिवसेना जैसे दलों की कथित नाराजगी को देखते हुए अगर वह किसी तरह उसका समर्थन हासिल कर लेता है तो यह उसकी एक बड़ी कामयाबी मानी जाएगी। कुल मिला कर देखा जाए तो राष्ट्रपति चुनाव ही एक ऐसा मौका होता है जिसमें भारतीय राजनीति की दोध्रुवीय गोलबंदी पूरी तरह साफ होकर सामने आती है। समाज की राजनीतिक धड़कन को महसूस करने के लिहाज से इस दोध्रुवीय गोलबंदी की अपनी अहमियत होती है। इसलिए इस मौके को खुलकर खिलने देना लोकतंत्र के हक में है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.