जयललिता का अंतिम संस्कार फिर से किया गया

jayalalitha-samadhiतमिलनाडु की सीएम जयललिता ब्राह्मण थींं, इसके बावजूद उन्हें उनके राजनीतिक गुरू एमजी रामचंद्रन की समाधि के बगल में दफनाया गया लेकिन इस बात पर अब विवाद उत्पन्न हो गया है, इसलिए अब खबर आ रही है कि मंगलवार को उनके रिश्तेदारों ने उनका हिंदू रीति-रिवाज से दोबारा अंतिम संस्कार किया।

टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी खबर के मुताबिक जयललिता को ‘मोक्ष’ मिले इसलिए अम्मा के रिश्तेदारों ने श्रीरंगपटना में कावेरी नदी के तट पर उनका दाह संस्कार किया। मुख्य पुजारी रंगनाथ लंगर ने दाह संस्कार की रस्में पूरी करवाईं।

दाह संस्कार में जया के शव की जगह एक गुड़िया को उनके प्रतीक के रूप में रखा गया था, अभी भी इस संस्कार की कुछ रस्में बाकी हैं जिसे अगले पांच दिनों तक पूरा कर लिया जाएगा। जया के सौतेले भाई वरदराजू ने किया विरोध खबर के मुताबिक इस संस्कार में जया के सौतेले भाई वरदराजू मुख्य तौर पर शामिल हुए और उन्होंने जया के दफनाए जाने का पुरोजर विरोध भी किया। गौरतलब है कि जयललिता की बीमारी से निधन तक के सफर में उनका एक भी परिवार वाला या रिश्तेदार शामिल नहीं हुआ था। अंतिम संस्कार की सारी रस्में जयललिता की करीबीं शशिकला ने निभाई थीं, उन्होंने ही जया के दफनाने का फैसला लिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.