जानें नए नोट की खासियत – खास स्याही से छपे हैं नए नोट, हरे से नीला हो जाता है थ्रेड का रंग

notesnews500 और 1000 के नोट बंद होने के बाद रिजर्व बैंक ने जिन 500 और 2000 के नए नोट को जारी किया है। वे खास किस्म की स्याही से बने हैं। इन नोटों की खासियत ये है कि इन्हें रंग बदलने वाली स्याही से छापा गया है। दोनों नए नोटों को हल्का-सा घुमाने या मोड़ने पर इस पर लगे सिक्युरिटी थ्रेड और उस पर लिखे शब्दों का रंग बदल जाता है। रंग बदलने वाली इस स्याही का उपयोग डॉलर सहित कई देशों के नोट में किया जाता है।

ऐसे होंगे नोट
– 500 रुपए की बात करें तो यह नोट पहले से काफी अलग होगा।
– यह ग्रीन कलर का होगा। साथ ही, पीछे की तरफ लाल किले की फोटो छपी होगी।
– ये नोट ‘महात्मा गांधी न्यू सीरीज ऑफ नोट्स’ कहलाएंगे।
– 2000 रुपए का नया नोट गहरे गुलाबी कलर का होगा।
– पीछे की तरफ मंगलयान की तस्वीर होगी।
– यह देश के साइंटिफिक अचीवमेंट को बयान करेगी।
– इसका साइज भी छोटा होगा। इस पर स्वच्छ भारत अभियान का संदेश होगा।

नासिक में छपे हैं नए नोट
रिजर्व बैंक ने 1000 रुपए के नोट की तरह ही 500 और 2000 के नए नोटों की छपाई भी नासिक बैंक नोट प्रेस में करवाई है। नासिक के अलावा मैसूर और मिदनापुर में नोटों की छपाई हो रही है।

500 रुपए के नोट छापने की मिली थी जिम्मेदारी
देश में जब 500 रुपए के नोट प्रचलन में लाने की योजना बनी तो रिजर्व बैंक ने देवास बैंक नोट प्रेस को नोट छपाई की जिम्मेदारी सौंपी थी। रिजर्व बैंक ने 1000 के नोट छापने की जिम्मेदारी नासिक बैंक के बाद देवास बैंक नोट प्रेस को सौंपी थी। यहां पर पहले फेज में ही 30 मिलियन यानी 30 करोड़ रुपए के 3 लाख नोट छापे गए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.