प्रधानमंत्री के उदघाटन नहीं कर रहे हैं तो खुद करो उदघाटन ईस्‍टर्न पेरिफेरल एक्‍सप्रेस-वे : सुप्रीम कोर्ट

 

Supreme Court of Indiaसुप्रीम कोर्ट ने ईस्‍टर्न एक्सप्रेस-वे के उदघाटन में देरी होने पर नाराजगी व्‍यक्‍त करते हुए कहा कि अगर एक्सप्रेस-वे तैयार है तो उदघाटन के लिए प्रधानमंत्री का इंतजार क्‍यों किया जा रहा है। अगर इस महीने के आखिर तक उदघाटन नहीं होता है तो एक जून से इसे जनता के लिए खोल दिया जाए। ये एक्सप्रेस-वे कुल 135 किलोमीटर लंबा है। सुप्रीम कोर्ट ने एक उदाहरण देते हुए कहा कि मेघालय कोर्ट पिछले पांच साल से काम कर रहा है लेकिन आजतक उसका उदघाटन नहीं हुआ है।

सुनवाई के दौरान एनएचएआई ने बताया कि हमने उदघाटन के लिए प्रधानमंत्री से कहा है। कोर्ट ने कहा कि अगर वो नहीं करते हैं तो आप क्‍यों नहीं कर देते, मेहनत तो आप लोगों की है। पिछली सुनवाई में आपने कहा था कि अप्रैल में उदघाटन होगा लेकिन ऐसा नहीं हुआ। इस मुदे पर हरियाणा सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से कहा कि इस एक्सप्रेस-वे का 81 फीसदी काम पूरा हो चुका है और इसे हम जून 2018 तक पूरा कर लेंगे।

दरअसल कुंडली से पलवल तक गाजियाबाद के रास्‍ते जाने वाला ईस्‍टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे 135 किलोमीटर लंबा है और इस एक्सप्रेस-वे से सफर की दूरी काफी कम हो जाएगी जिससे समय भी लगभग आधा हो जाएगा। ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे पर सात इंटरचेंज मौजूद हैं, जिससे एक से दूसरे शहर तक जा सकते हैं। पहले 29 अप्रैल को इसका उद्घाटन होने वाला था, लेकिन अब इसकी तारीख बढ़ा दी गई है। पीएम मोदी 26 मई को भारत के पहले 14 लेन के दिल्ली मेरठ एक्सप्रेस-वे के पहले चरण का उद्घाटन एक रोड शो के जरिए करेंगे। दिल्ली मेरठ हाइवे का पहला चरण निजामुद्दीन से यूपी गेट तक हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.