जीएसटी की तस्वीर इन पांच सवालों के जवाब ही साफ करेंगे

gstगुरुवार को हुई काउंसिल की बैठक में जीएसटी की पांच दरें तो तय हो गईं। लेकिन जीएसटी लागू होने के बाद टैक्स ढ़ांचा कैसा होगा इस पर पूरी सफाई आना बाकी है। हम इस खबर में ई-मुंशी के टैक्स एक्सपर्ट अंकित गुप्ता से बात करके उन पांच सवालों को उठा रहे हैं जिनके जवाब ही तय करेंगे कि जीएसटी की साफ तस्वीर क्या होगी। मसलन, किस उत्पाद पर किस दर से टैक्स लगाया जाए, किन उत्पादों पर कर के अलावा सेस लागू हो और सेवाओं पर किस दर से टैक्स लगना चाहिए आदि।

1.सर्विस टैक्स कितना होगा?

जीएसटी काउंसिल ने जीएसटी की दरें तो तय कर दी हैं लेकिन सर्विस टैक्स पर अभी सफाई आना बाकी है। काउंसिल ने जीएसटी की 2 स्टैण्डर्ड दरें तय की हैं। सर्विस टैक्स इनमें से किस दायरे में आएगा अभी इस पर सफाई आना बाकी है। आपको बता दें कि मौजूदा कर ढ़ांचे के अंतर्गत देश में दो तरह से सर्विस टैक्स लगाया जाता है। एक जिसमें पूरा सर्विस टैक्स उपभोक्ता की ओर से अदा किया जाता है। जैसे ट्रांसपोटेशन और टेलीकम्युनिकेशन संबंधी सेवाएं आदि। यह दर फिलहाल 15 फीसदी है। दूसरी स्थिती में सर्विस टैक्स का कुछ हिस्सा उपभोक्ता और कुछ हिस्सा सेवा प्रदाता देता है। जैसे रेस्टोरेंट का बिल आदि। साथ ही 50 से ज्यादा सेवाएं फिलहाल ऐसी हैं जिन पर कोई टैक्स नहीं लगता। ऐसे में जीएसटी के अंतर्गत सर्विस टैक्स का पूरी तस्वीर साफ होना बाकी है।

2. किस उत्पाद पर लगेगा कितना टैक्स?

जीएसटी काउंसिल ने 0,5, 12, 18 और 28 ये पांच दरें तय की हैं जो जीएसटी के अंतर्गत काम करेगी। लेकिन किन उत्पादों पर ये दरें किस हिसाब से लागू होंगी यह स्पष्ट होना बाकी है। सचिवों की समिति यह तय करेगी कि किस प्रोडक्ट को किस कैटेगरी के अंतर्गत लाया जाए। यह सवाल आम जनता के लिए बहुत ज्यादा जरूरी है।

3.सेस का मसला अब भी अनसुलझा?

जीएसटी की पांच दरें तय करने के साथ ही काउंसिल ने कुछ उत्पादों पर पर सेस भी लगाया। सेस किस प्रोडक्ट पर कितना सेस लगेगा यह अभी तय होना बाकी है। हालांकि सेस का विरोध इंडस्ट्री और राज्य दोनो ही कर रहे हैं। ऐसे में काउंसिल सेस पर क्या फैसला लेती है यह जीएसटी के भविष्य के लिए अहम है।

4.सोने पर कितना टैक्स लगेगा?

जीएसटी काउंसिल की तरफ से निर्धारित की गईं पांच दरों के बीच सबसे अहम बात यह रही कि गोल्ड इन पांच दरों में से किस दायरे में आएगा इस पर कोई फैसला नहीं किया गया है। माना जा रहा है कि काउंसिल अपनी अगली बैठक में इस पर कोई फैसला ले सकती है। एक्सपर्ट मान रहे है कि गोल्ड पर तय होने वाली टैक्स रेट शेयर बाजार और बुलियन कारोबारियों के साथ साथ आम जनता के लिए भी अहम फैसला होगी।

5.रजिस्ट्रेशन, रिटर्न समेत तमाम कम्प्लाइंसेस पर कई सवाल ?

जीएसटी के रजिस्ट्रेशन का प्रोसेस क्या होगा? मौजूदा टैक्स के बकाए का भुगतान सरकार कैसे करेगी? जीएसटी के रिटर्न कब और कैसे भरे जाएंगे? जीएसटी की कम्प्लाइंसेस से जुड़े ये ऐसे सवाल हैं जो उपभोक्ता के लिए भले उतने अहम न हों लेकिन कारोबारियों के लिए इनका बड़ा महत्व है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.