घरेलू फैन्स के बीच गोवा ने नॉर्थईस्ट को किया पस्त – ISL

islरोमियो फर्नादेस और रोबिन सिंह के शानदार खेल की बदौलत मेजबान एफसी गोवा ने शुक्रवार को फातोर्दा के जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम में खेले गए हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के तीसरे सीजन के 10वें दौर के मुकाबले में नार्थईस्ट युनाइटेड एफसी को 2-1 से हरा दिया। 72वें मिनट के बाद 10 खिलाड़ियों के साथ खेल रहे गोवा की ओर से विजयी गोल रोमियो ने दूसरे हाफ के इंजुरी टाइम के चौथे मिनट में किया। रोमियो ने रोबिन सिंह द्वारा दिए गए सटीक पास पर नार्थईस्ट के गोलकीपर सुब्रत पाल को छकाने में सफलता हासिल की।

यह मैच बराबरी की ओर बढ़ चुका था लेकिन 10 खिलाड़ियों के साथ खेल रहे होने के बाद भी गोवा ने हार नहीं मानी और अपने हिस्से में तीन अंक डालने के अलावा नार्थईस्ट के हाथों चार अक्टूबर को मिली हार का हिसाब भी बराबर किया।

यह गोवा की 10 मैचों में तीसरी जीत है। इस जीत के बाद भी वह हालांकि आठ टीमों की तालिका में 10 अंकों के साथ आठवें स्थान पर ही बना हुआ है लेकिन इससे हासिल तीन अंकों ने उसे अपने सेमीफाइनल के लक्ष्य की ओर बढ़ने की ताकत और हिम्मत दी है। यह नार्थईस्ट का नौवां मैच था। वह छठे स्थान पर है। यह उसकी इस सीजन की पांचवीं हार है।

यह मैच अंत में जाकर जितना रोचक और रोमांचक रहा उतना रोमांचक शुरुआत में नहीं रहा। पहला हाफ गंवाए गए मौकों और दुर्भाग्य की कहानी बयां करता नजर आया। नार्थईस्ट ने काफी हद तक इस हाफ में मैदान पर राज किया। इस हाफ में मेहमान टीम को गोल करने के कुछ अच्छे मौके मिले लेकिन मेजबान गोलकीपर और कप्तान लक्ष्मीकांत काट्टीमनी ने उन्हें नकार दिया।

नार्थईस्ट ने गोवा को अपने कुछ शानदार क्रास से डराया। रोलिन बोर्गेस को इस हाफ के अंत में दो अच्छे क्रास पास मिले लेकिन वह काट्टीमनी को छकाने में नाकाम रहे। नार्थईस्ट के सेंटर बैक खिलाड़ियों ने गोल करने के दो और अच्छे मौके बनाए लेकिन दोनों ही मौकों पर गेंद क्रासबार से टकराकर लौट गई।

दूसरी ओर, गोवा की ओर से रोबिन सिंह को गोल करने का अच्छा मौका मिला था लेकिन उनकी शक्तिशाली किक को रोक दिया गया। काट्टीमनी इस हाफ के सबसे अच्छे खिलाड़ी रहे लेकिन दूसरे हाफ में नार्थईस्ट के खिलाड़ी काट्टीमनी को छकाने में सफल रहे।

दूसरे हाफ के शुरू होने के साथ ही गोवा ने जोरदार हमला किया। 47वें मिनट में रोमियो फर्नादेज और रफाएल कोएल्हो ने एक मौका बनाया लेकिन सुब्रत पाल ने उसे नकार दिया। जवाब में नार्थईस्ट का हमला सफल रहा। उसने 50वें मिनट में गोल करते हुए स्कोर अपने पक्ष में 1-0 कर दिया। उसके लिए यह गोल सेत्यासेन सिंह ने किया।

कात्सुमी युसा ने बाईं ओर से एक अच्छा क्रास पास दिया। रोबिन सिंह ने उसे रोकने में सफलता हासिल की लेकिन उनकी सफलता आंशिक रही। गेंद रोबिन सिंह के चंगुल से निकलकर सेत्यासेन सिंह के पास आकर गिरी और उन्होंने बिना देरी किए गोलपोस्ट की ओर भेजा लेकिन गेंद त्रिंदादे गोनकाल्वेस से टकरा गई। इसके बावजूद गेंद काट्टीमनी को छकाते हुए गोलपोस्ट में घुस गई।

रोबिन के लिए यह बेहद खराब पल था लेकिन इस गोल के 12 मिनट बाद ही उन्होंने रोमियो के पास पर एक बेहतरीन गोल करते हुए गोवा को बराबरी पर ला दिया। रोमियो ने मैदान के मध्य से रोबिन को एक बेहतरीन पास दिया। उस समय रोबिन नार्थईस्ट के बाक्स एरिया में मौजूद थे। होलीचरन नारजारे ने गेंद को रोकने की कोशिश की लेकिन वह नाकाम रहे। गेंद जब रोबिन के पास पहुंची तो उन्होंने बिना गलती किए उसे गोलपोस्ट में डाल दिया।

72वें मिनट में गोवा को तगड़ा झटका लगा। साहिल तावोरा को दूसरा पीला कार्ड दिखाया गया। साहिल को इससे पहले 53वें मिनट में भी पीला कार्ड मिला था। साहिल को मैदान छोड़ना पड़ा। गोवा की टीम अब 10 खिलाड़ियों के साथ मैदान में रह गई।

अब लग रहा था कि नार्थईस्ट की टीम गोवा पर हावी हो जाएगी लेकिन गोवा की रक्षापंक्ति और कप्तान काट्टीमनी ने कई हमलों को नाकाम करते हुए अपनी आक्रमणपंक्ति को हमले जारी रखने का साहस दिया, जिस पर प्रतिक्रिया करते हुए इस मैच के हीरो रोबिन और रोमियो ने अपने कोच जीको और हजारों स्थानीय प्रशंसकों को खुशी प्रदान करते हुए अपनी टीम को एक शानदार जीत दिलाई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.