एक अकेला इस शहर में रहता है

sheharआपने शायद ही पहले कभी पढ़ा या सुना होगा कि एक पूरे शहर में सिर्फ एक व्यक्ति रह रहा है. हालांकि यह सुनने में थोड़ा अटपटा जरूर लगता है, लेकिन यह बिलकुल सत्य है. जापान के तोमिओका नाम के शहर में सिर्फ एक व्यक्ति रह रहा है. इसके पीछे की वजह क्या हो सकती है कि इस पूरे शहर में वह अकेला अपना जीवन यापन कर रहा है. तो आइए, आज आपको हम बताते हैं इस शहर के बारे में विस्तार से…

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार जापान के तोमिओका में साल 2010 तक की आबादी करीब 15 हजार थी. फिर 2011 में सुनामी आई और फुकुशिमा दाइची न्यूक्लियर प्लांट से रिसाव होने लगा. इसके चलते रेडिएशन फैला, जिसकी जद में तोमिओका भी था. रेडिएशन के डर से सारे लोग यहां से भाग गए. सिर्फ 58 साल के नाओतो मत्सुमुरा रह गए. उन्होंने जाने से इंकार कर दिया, क्योंकि वे अपने शहर में छूट गए जानवरों के लिए खाने का इंतजाम करना चाहते थे.

एक इंटरव्यू में मत्सुमुरा ने कहा था कि जब भूकंप आया था, तब वह काम कर रहे थे. इस दौरान उन्हें सुनने में आया कि भसुनामी आने वाला है तो वह घर लौटने से पहले सुनामी का इंतजार कर रहे थे और अगले ही दिन उन्होंने न्यूक्लियर प्लांट में विस्फोट होने की आवाज सुनी. उन्होंने कहा कि फिर किसी को मुझे बताने कि जरूरत नहीं थी किया हुआ, क्योंकि वह बहुत बड़ा विस्फोट था.

इस घटना के बाद पूरा शहर खाली हो गया. लोग इस शहर को छोड़कर दूसरी जगह चले गए. मत्सुमुरा भी इस दौरान इवाकी में अपनी चाची के घर गए थे, लेकिन वहां उन्हें रहने की इजाजत नहीं दी गई, क्योंकि वहां यह कहा गया कि वे लोग दूषित हैं. रिपोर्ट्स के अनुसार अब मत्सुमुरा के परिवार तोमिओका शहर से 18 मील दूर अपने एक रिश्तेदार के यहां रह रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.