खुशखबरी- जीएसटी के 100 नंबर के तोहफे और नुकसान भी

gstकाफी अरसे से जीएसटी का मसला सुर्ख़ियों में था. कुछ लोग इसके सपोर्ट में तह तो कुछ इसकी खिलाफत कर रहे रहे थे. बहरहाल यह पास हो गया है और कहा जा रहा है कि केंद्र एवं राज्य सरकारें प्रस्तावित गुड्स ऐंड सर्विसेज टैक्स के दायरे से करीब 100 आइटम्स को बाहर रख सकती हैं। केंद्र सरकार फिलहाल 299 और राज्य सरकारें 99 आइटम्स को टैक्स में छूट देती हैं। एक शीर्ष सरकारी अधिकारी ने बताया कि आगे भी कुछ आइटम्स को छूट जारी रह सकती है।

नमकफलसब्जियांदूधअंडाचायकॉफी

आम इस्तेमाल किए जाने वाले सामान और लोगों की ओर से अधिकतम उपभोग किए जाने वाले प्रॉडक्ट्स को छूट के दायरे में रखा जा सकता है। नमक, फल, सब्जियां, दूध, अंडा, चाय, कॉफी और मंदिरों पर मिलने वाले प्रसाद को छूट की लिस्ट में शामिल किया जाएगा। अफसर ने कहा कि छूट की यह सूची लगभग तैयार होने वाली है और इस पर राजनीतिक असर का भी ख्याल रखा जाएगा।

होटल्स पर सर्विस टैक्स चार्ज नहीं

कई तरह के टैक्स प्रावधानों में अब तक छूट के दायरे में रही तमाम वस्तुओं को जीएसटी में शामिल किया जा सकता है। हालांकि 1,000 रुपये तक के टैरिफ वाले बजट होटल्स पर सर्विस टैक्स चार्ज नहीं किया जाएगा। वहीं, हेल्थकेयर और एजुकेशन को भी बाहर रखा जाएगा।

उत्तर प्रदेश में क्या हुआ

उत्तर प्रदेश राज्य विधानसभा में आज सर्वसम्मति से वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) विधेयक पारित हो गया। राज्य विधानसभा के विशेष सत्र के दूसरे दिन नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी ने एक नोटिस जारी कर मांग की कि जीएसटी को सदन की प्रवर समिति को भेजना चाहिए।

आशा है की सरकार टैक्स से जुड़े मसलों पर गरीब और आर्थिक तौर पर निरीह लोगों के हितों का भी ख्याल रखेगी और उन पर किसी भी तरह के टैक्स का अतिरिक्त बोझ डालने से बचेगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.